• LAWFOX

डूब गया DHFL में निवेशकों का पैसा। जानिए क्या रही वज़ह ‌



डूब गया DHFL में निवेशकों का पैसा। जानिए क्या रही वज़ह ‌ अगर आपके पास भी चर्चित DHFL के शेयर है तो यह खबर आपके लिए जरूरी है। गुरुवार तथा शुक्रवार को लगातार लोवर सर्किट लगकर DHFL का शेयर 16.80 रूपए पर बंद हुआ था अब देश के दोनों स्टोक एक्सचेंज NSE तथा BSE ने DHFL के शेयरों की खरीद-फरोख्त पर पाबंदी लगा दी है। BSE तथा NSE ने निवेशकों के लिए सुचना जारी करते हुए बताया है कि 14 जून से DHFL (DIWAN HOUSING FINANCE LIMITED) के इक्विटी शेयरों की खरीद-फरोख्त बंद हो जाएगी। लंबे समय से कर्ज में डुबी हुई DHFL ने 8 जून को स्टोक एक्सचेंज को यह सुचना दी थी की NCLT में IBC के तहत चल रहे मामले में NCLT ने Resolution plan को अनुमति दी है जिसके तहत कंपनी के अंशो की डीलिस्टिंग की जानी है।

कम्पनी नें एक अन्य अधिसूचना जो की 9 जून को जारी की गई के माध्यम से बताया की भारतीय दिवाला और दिवालियापन बोर्ड (कॉर्पोरेट व्यक्तियों के लिए दिवाला समाधान प्रक्रिया) विनियम 2016 के तहत नियुक्त रजिस्ट्रर्ड वेल्यूअर ने कंपनी के इक्विटी शेयरों के लिए कोई भी मूल्य तय नहीं किया है। कंपनी ने यह भी बताया की उपरोक्त के संबंध में NCLT का आदेश अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है तथा सभी अधिसूचना उस आदेश के अधीन है। DHFL पर 90,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया था तथा भारतीय रिज़र्व बैंक ने नवंबर, 2019 में दिवाला और दिवालियापन संहिता (IBC) के तहत समाधान के लिए DHFL को संदर्भित किया। IBC में जाने वाली यह पहली फाइनेंस कंपनी है, NCLT की मुंबई बैंच ने सोमवार को कुछ शर्तों के अधीन दिवालिया-डीएचएफएल के लिए पीरामल समूह की 37,500 करोड़ की बोली को अपनी मंजूरी दे दी थी। Resolution Plan को पहले ही भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) से मंजूरी मिल चुकी थी। अब Resolution Plan के तहत DHFL के इक्विटी शेयरों की डीलिस्टिंग की जाएगी, जिसकी जानकारी कंपनी ने अधिसूचना के द्वारा जारी की है।


12 views0 comments